आज जाने की ज़िद ना करो

Mohit Sapru Posted On :
2 min, 222 words

Categories: Music

"Aaj Jane Ki Zid Na Karo"

A song which is made immortal by Malika-e-Ghazal, Farida Khanum sung here by the contemporary Indian singer, Arijit Singh.

आज जाने की ज़िद ना करो
यूँ ही पहलु में बैठे रहो
यूँ ही पहलु में बैठे रहो
आज जाने की ज़िद ना कर
हाय मर जाएंगे
हम तो लुट जाएंगे
ऐसी बातें किया ना करो
आज जाने की ज़िद ना करो
तुम ही सोचो ज़रा
क्यूँ ना रोकें तुम्हें
जान जाती है जब
उठ के जाते हो तुम
जान जाती है जब
उठ के जाते हो तुम
तुमको अपनी क़सम जानेजां
बात इतनी मेरी मान लो
आज जाने की ज़िद ना करो
वक़्त की कैद में ज़िन्दगी है मगर
चंद घड़ियां यही हैं जो आज़ाद है
चंद घड़ियां यही हैं जो आज़ाद है
इनको खो कर मेरी जानेजाँ
उम्र भर ना तरसते रहो
आज जाने की ज़िद ना करो